पृष्ठ:चाँदी की डिबिया.djvu/१९१

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ जाँच लिया गया।
दृश्य १ ]
चाँदी की डिबिया
 

तो तुमने उसपर हमला किया? बोलो हाँ या नहीं।

जोन्स

[ रुखाई से ]

हाँ, लेकिन इसके बारे में मुझे बहुत सी बातें कहनी हैं।

मैजिस्ट्रेट

[ क्लार्क से ]

हाँ, हाँ! लेकिन यह क्या बात है कि इन दोनों पर एक ही जुर्म लगाया गया है? क्या वे मियां बीबी हैं?

क्लार्क

हाँ हज़ूर! आपको याद है; कि आपने मुजरिम को हिरासत में रक्खा था कि शौहर के बयान पर और भी शहादत ली जा सके।

मैजिस्ट्रेट

क्या तभी से ये दोनों हवालात में हैं?

१८३