पृष्ठ:चाँदी की डिबिया.djvu/१९१

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


दृश्य १] चाँदी का डिबिया तो तुमने उसपर हमला किया ? बोलो हाँ या नहीं। जोन्स [रुखाई से हाँ, लेकिन इसके बारे में मुझे बहुत सी बातें कहनी हैं। मैजिस्ट्रेट [ क्लार्क से] हाँ, हाँ! लेकिन यह क्या बात है कि इन दोनों पर एक ही जुर्म लगाया गया है ? क्या वे मियां बीबी हैं ? क्लार्क u हाँ हज़र ! आपको याद है कि आपने मुजरिम को हिरासत में रक्खा था कि शौहर के बयान पर और भी शहादत ली जा सके। मैजिस्ट्रेट क्या तभी से ये दोनों हवालात में हैं ? १८३