पृष्ठ:चाँदी की डिबिया.djvu/१९८

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ जाँच लिया गया।
चाँदी की डिबिया
[ अड़्क ३

क्लार्क

क्या तुमने उसे हिरासत में ले लिया?

स्नो

जी हाँ!

मैजिस्ट्रेट

उसका बर्ताव कैसा था?

स्नो

उसने ज़रा भी हुज्जत न की। हाँ, बराबर इनकार करती रही।

मैजिस्ट्रेट

तुम उसे जानते हो?

स्नो

नहीं हज़ूर!

१९०