पृष्ठ:बिरजा.djvu/१

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ प्रमाणित हो गया।



बिरजा ।

( उपन्यास)

श्रीराधाचरण गोस्वामी :

द्वारा

बजभाषा में अनुवादित।

_____

प्रियमम्याम: मुरादाशिचकम्गाम् ।

बगन्यूमानानाम शबानां स्त्रोतती यथा ॥

(श्रीमद्भागवतम् )

(भारतेन्दु)

विविधविषय विभूषित मानिकपत्र ।

-:५][ का ७, ८.८, १०, ११, १

जागग्य १ जुलाई, अगम्त, सिपम्बर, प्रायोवर,

नोवेम्बर, डिसेम्बर सन् १८८१ ई.)

अन्यकार की मुद्रा व्यतीत पुस्तके चोरी की है।

_______

काशी

तिजीपन यन्वालय वाबू रामनपायर्मा अधिर

______

सन् १८८१ ई.।