पृष्ठ:Hind swaraj- MK Gandhi - in Hindi.pdf/२

विकिस्रोत से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
यह पृष्ठ प्रमाणित है।

हिन्द स्वराज्य



गांधीजी

अनुवादक

अमृतलाल ठाकोरदास नाणावटी



यह किताब द्वेषधर्मकी जगह प्रेमधर्म सिखाती है ;

हिंसाकी जगह आत्म-बलिदानको रखती है ;

पशुबलसे टक्कर लेनेके लिए आत्मबलको खड़ा करती है।



नवजीवन प्रकाशन मंदिर

अहमदाबाद-१४