भारतेन्दु समग्र

विकिस्रोत से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
भारतेन्दु समग्र  (1987) 
द्वारा भारतेन्दु हरिश्चंद्र

[  ]________________

भारतेन्दु ग्रंथावली. भारतमा सम्पादन : हेमन्त शर्मा समी खण्ड और अनेक अलभ्य सामग्री एक जिल्ब में (841-43) BHA प्रचारक ग्रंथावली परियोजना हिन्दी प्रचारक संस्थान पी...१०.यायमेटन.पाजी -26001 [  ] [  ]________________

भारतेन्दु ग्रंथावली भारतमा सम्पादन : हेमन्त शर्मा समी खण्ड और अनेक अलभ्य सामग्री एक जिल्ल में.... प्रचारक ग्रंथावली परियोजना हिन्दी प्रचारकरांस्थान पी.जी. १९०५ पिण्याचजौटा वापसी-४००५ P.Sot Rasic-SORORISROPERS ARE REATROCE [  ]________________

YAROD. प्रचारक ग्रन्थावली परियोजना हिन्दी प्रचारक संस्थान पो. बॉ. ११०६, पिशाचमोचन, वाराणसी-२२१००१ के लिए विजय प्रकाश बेरी द्वारा प्रकाशित , तथा रत्ना ऑफसेट, सी-१०१, डी. डी. ए. शेड, इन्डस्ट्रियल एरिया, ओखला फेज़ I, नई दिल्ली-११००२० में मुद्रित । पन १९८७ परिवहन व्ययः (०.०० मूल्य प्रचारक ग्रंथावली परियोजना-१ 891.43 BHA LSN (PA भारतेन्दु समग्र BHARTENDU SAMAGRA Collected works of Bhartendu Harishchandra, Edited by Hemant Sharma [  ]________________

HomemaanavroEODOORDARDARDLPAPER प्रकाशकीय, आधुनिक हिन्दी के जन्मदाता भारतेन्तु का रचना संसार जितना विराट है, उतना ही क्रान्तिकारी और बहुआयामी भी। उनकी प्रतिमा ने साहित्य की किसी विधा को अमृता नहीं छोड़ा। उन्होंने अपने संक्षिप्त जीवन में वह सब कुछ कर डाला, जिसके करने की सामर्थ्य व्यक्ति क्या संस्थाओं में भी आज दिखाई नहीं पड़ती। ऐसे युग पुरुष के कर्तृत्व की समग्रता को एक जिल्य में समेट कर अत्यल्प मूल्य में देने का संकल्प भारतेन्दु पुण्यशती वर्ष में हमने किया था। प्रस्तुत ग्रंथ उसी संकल्प का परिणाम है। इसी क्रम में हम शरत, बंकिम, देवकी नंदन खत्री, प्रसाद, प्रेमचन्द आदि की ग्रंथावलियाँ भी प्रकाशित करेंगे और इतनी कम कीमत पर ग्राहकों को उपलब्ध करायेंगे कि पुस्तकों का मूल्य आम आदमियों की जेष के बाहर होने की आम शिकायत समाप्त हो जायेगी। यह सारस्वत अनुष्ठान तभी पूरा होगा जब आपका सक्रिय सहयोग हमें मिलेगा। प्रकाशक BARSICAMERCESSIST [  ] [  ]________________

विषय-सूची पहला खण्ड (काव्य) १. भक्त सर्वस्व २. प्रेम मालिका ३. कार्तिक स्नान ४. वैशाख-माहात्म्य ५. प्रेमसरोवर ६. प्रेमाच वर्षण ७. जैन कौतूहल ८. प्रेम माधुरी ९. प्रेम तरंग १०. उत्तरार्द्धभक्तमाल ११. प्रेम प्रलाप १२. गीत गोविंदानन्द १३. सतसई सिंगार १४. होली १५. मधु मुकुल १६. राग संग्रह १७. वर्षा विनोद १८. विनय प्रेम पचासा १९. फूलों का गुच्छा २०. प्रेम फुलवारी २१. कृष्ण चरित्र छोटे प्रबन्ध तथा मुक्तक रचनायें २२. श्री अलवरत वर्णन २३. श्री राजकुमार सुस्वागत पत्र २४. सुमनांजलि २५. श्रीमान प्रिंस आफ वेल्स केपीड़ित होने पर कविता २६. श्री जीवन जी महाराज २७. चतुरंग २. देवीष्ठा लीला २९. प्रातः स्मरण मंगल पाठ ३०. दैन्य प्रलाप १९९ [  ]________________

व २०१ .२०२ २०३ २०३ २०५ २०६ २०६ २०८ २०९ C.006 રર २२३ ३१. उरहना ३२. तन्मय लीला ३३. दान लीला ३९. रानी राय लीला ३५. संस्कृत लावनी ३६. बसंत होली ३७. स्फुट समस्या ३. मुँह दिखावनी ३९. उर्दू का स्थापा ४०. प्रबोधिनी ४१. प्रात समीरन ४२. बकरी विलाप ४३. स्वरूप चिंतन ४४. श्री राजकुमार शुभागमन वर्णन ४५. भारत भिक्षा ४६. श्री पंचमी ४७. श्री सर्वोत्तम स्तोत्र ८. निवेदन पंचक ४९. मानसोपायन ५०. प्रातः स्मरण स्तोत्र ५१. हिंदी की उन्नति पर व्याख्यान ५२. अपवर्गदाष्टक ५३. मनोमुकुल माला ५४. भाषा सहज ५५. राजराजेश्वरी स्तुति ५६. वेणु गीति ५७. श्रीनाथ स्तुति ५६. मूक प्रश्न ५९. अपवर्ग पंचक ६०. पुरुषोत्तम पंचक ६१. भारत बीरत्व ६२. श्रीसीता बल्लम स्तोत्र ६३. श्री राम लीला ६४. भीमस्तवराज ६५. मान लीला फूल बुझौअल ६६. बंदर समा ६७. विजय वल्लरी २२४ २२६ २२८ २३० २३१ २३२ २३३ २३४ २३६ २३६ २३७ २३८ २३८ २४२ २४६ २४७ ६८. विजयिनी विजय वैजयन्ती ६९. नये जमाने की मुकरी ७०. जातीय संगीत ७१. रिपनाष्टक ૨૨ २५६ २५७ २५७ KARTD varu-- -- -[  ]________________

र ७२. स्फुट कविताएँ २५९-२७७ जिनमें ढेरों अप्रकाशित कविताएं, गजल, सबैया कवित्त, समस्यापूर्ति आदि ७३. दशरथ विलाप २७८ दूसरा खण्ड (नाटक) २८३ ३०० ३१९ ३२६ ४०६ ४१९ ४३९ ५२९ १. विद्या सुन्दर २. रत्नावली ३. पाखण्डविडम्बन ४. वैदिकी हिंसा हिंसान भवति ५. धनंजयविजय ६. मुद्राराक्षस ७. सत्यहरिश्चन्द्र ८. प्रेमजोगिनी ९. विषस्य विषमौषधम १०. कर्पूरमंजरी ११. श्री चंद्रावली १२. भारततुर्दशा মানে অনলী नीलदेवी १५. दुर्लभवन्यु १६. अंधेरनगरी १७. सती प्रताप १८. सबै जाति गोपाल की १९. बंसत पूजा २०. शाति विवेकिनी समा २१. संड़ भड़योः संवाद २२. रणधीर प्रेममोहिनी २३. श्री रामलीला २४. नाटक तीसरा खण्ड (गद्य) क-ऐतिहासिक रचनाएं १. अगरवालों की उत्पत्ति २. चरितावली विक्रम कालिदास रामानुजाचार्य ५४४ ५ ५८३ से ५८३ ५८८ [ १० ]________________

30308939020393333338 शंकराचार्य जयदेव पुष्पंदत्ताचार्य वल्लभाचार्य सूरदास सुकरात नेपालियन तृतीय जंगबहादुर द्वारिकानाथ मिश्र, जज्ज राजाराम शास्त्री लार्डम्यो (मायो) लार्ड लॉरेंस महाराजाधिराज जार कुंडलियां ३. पुरावृत्त संग्रह अकबर और औरंगजेब कन्नौज के राजा का दान पत्र क्वींस कालेज के फाटकों के लेख इंडियंन मूजियम अशोक चारदिवाली तथा बोध गया के लेख राजा जन्मेजय का दान पत्र मंगलीश्वर का दान पत्र मणिकर्णिका काशी शिवपुर का द्रौपदी कुंड पंपापुर का दान पत्र कन्नौज का दान पत्र नाममंगला का दान पत्र चित्रकूटस्थ रमाकुंड गोविंददेवजी की प्रशस्ति सारनाथ आदि के लेख । प्राचीन काल का संवत निर्णय ४. महाराष्ट्र देश का इतिहास ५. दिल्ली का दरबार दर्पण ६. उदयपुरोदय ७. खत्रियों की उत्पत्ति ६६३ ६६७ ६८१ ६९५

PD-icon.svg यह कार्य भारत में सार्वजनिक डोमेन है क्योंकि यह भारत में निर्मित हुआ है और इसकी कॉपीराइट की अवधि समाप्त हो चुकी है। भारत के कॉपीराइट अधिनियम, 1957 के अनुसार लेखक की मृत्यु के पश्चात् के वर्ष (अर्थात् वर्ष 2022 के अनुसार, 1 जनवरी 1962 से पूर्व के) से गणना करके साठ वर्ष पूर्ण होने पर सभी दस्तावेज सार्वजनिक प्रभावक्षेत्र में आ जाते हैं।

यह कार्य संयुक्त राज्य अमेरिका में भी सार्वजनिक डोमेन में है क्योंकि यह भारत में 1996 में सार्वजनिक प्रभावक्षेत्र में आया था और संयुक्त राज्य अमेरिका में इसका कोई कॉपीराइट पंजीकरण नहीं है (यह भारत के वर्ष 1928 में बर्न समझौते में शामिल होने और 17 यूएससी 104ए की महत्त्वपूर्ण तिथि जनवरी 1, 1996 का संयुक्त प्रभाव है।

Flag of India.svg