अंतर्राष्ट्रीय ज्ञानकोश/अखिल जर्मनवाद

विकिस्रोत से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
अन्तर्राष्ट्रीय ज्ञानकोश  (1943) 
द्वारा रामनारायण यादवेंदु

[ ११ ] अखिल जर्मनवाद——इस आन्दोलन का उद्देश्य समस्त जर्मन भाषा-भाषियों को एक ही राज्य के अन्तर्गत संगठित करना है। सन् १९१४-१८ विश्व-युद्ध से पूर्व जर्मनी में इस आन्दोलन का संचालन 'हर' श्रेणी के लोगों ने किया था। पहले इसका उद्देश्य आस्ट्रिया के जर्मन-भाषी प्रान्तों को जर्मनी में मिलाना था। आस्ट्रिया में अखिल जर्मनवाद अर्थात् पान-जर्मनिज़्म का ज़ोरदार प्रचार था। हर हिटलर का जन्म इसी वातावरण में हुआ और उस पर इस आन्दोलन का बड़ा प्रभाव पड़ा। अखिल-जर्मनवादी वित्मार्क की पूजा करते थे, परन्तु उसने आस्ट्रिया की सुरक्षा का समर्थन किया। हिटलर ने आस्ट्रिया ओर सूडेटनलैण्ड को जर्मनी मे मिलाकर इस आन्दोलन के लक्ष्य की पूर्ति की। पश्चिम मे अखिल जर्मनवाद का लक्ष्य अलनेस लोरेन लक्जमबर्ग तथा जर्मन-भाषी स्विट्जरलैंड को जर्मनी मे मिलाना रहा है। उग्र जर्मनवादी तो यहँ तक चाहते है कि हालैएट ओर फ्लेंण्टर्स को भी जर्मनी में मिलाया जाय।