Locked

दृश्य-दर्शन

विकिस्रोत से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
दृश्य-दर्शन  (1928) 
द्वारा महावीर प्रसाद द्विवेदी
[  ]
दृश्य-दर्शन.djvu
[  ]
रंगमहल-रहस्य
(ऐतिहासिक उपन्यास)
(मुगल बादशाहोंके अन्तःपुरके गुप्त रहस्य)

जगद्विख्यात मुगल सम्राट अकबरको शासन व्यवस्था,शरा अग्रवानीके नशेमें मस्तः शाहजादियोंको विलास-लीला,शाहजादा सलीम ( शाहंशाह जहाँगीर) की प्रम-लिप्सा,भारतको उस समयकी राजधानी आगगके गुण्डोंको नृशंसता,महाराज बीरवलकी शासन-चातुरी आदि का सजीव वर्णन पढ़कर दङ्ग रह जाइएगा। इतिहास और उपन्यस का ऐसा अदभुत मेल और कहीं मिलना असम्भव है। पृष्ठ संख्या ७०० तिनरंगा कवर मुख्य ४।।) महसूल अलंग।

मिलनेका पता-
बीसवी सदी पुस्तक लय,
गऊघाट, मिर्जापुर लिटो ( यू० पी० )
[  ]
दृश्य-दर्शन




लेखक

आचार्य महावीर प्रसाद द्विवेदी





सुलभ-ग्रन्थ प्रचारक मण्डल,

३६, शंकरघाष लेन, कलकत्ता।

[  ]

प्रकाशक

सुलम-अन्य प्रचारक मण्डल,

३६, शंकरघोंष लेन,

कलकत्ता।





मूल्य १)

सर्वाधिकार सुरक्षित

प्रथम संस्करण






मुद्रक

महादेवप्रसाद सेठ,

बालकृष्ण प्रेस,

कलकत्ता।

[  ]नगरों की सैर जरूर ही करना चाहिए। अपने देश के कितने ही

तीर्थ-स्थान और कितने ही ऐतिहासिक स्थल ऐसे हैं जिनका सम्बन्ध अपने धर्म और अपनी पुरानी प्रभुता से बहुत घना है। उनके दर्शन करना और उनके सम्बन्ध की ऐतिहासिक बातें जानना हम लोगों के लिए अन्य अनेक दृष्टियों से तो लाभदायक है ही, पुण्य वर्धक भी है। जो लोग किसी कारण से अपने देश के भी प्रसिद्ध स्थानों की यात्रा करने में समर्थ नहीं उन्हें, यदि वे अपनी भाषा हिन्दी पढ़ सकते हैं तो,ऐसे स्थानों के वर्णन से पूर्ण पुस्तके ही पढ़कर अपनी ज्ञानोन्नति करना अपना कर्तव्य समझना चाहिए।

इसी उद्देश की सिद्धि के लिए अपने देश के कुछ प्रसिद्ध स्थानों, नगरों और राज्यों के सम्बन्ध में लिखे गये लेखों का यह संग्रह प्रकाशित किया जाता है। इन लेखों में से केवल एक लेख का सम्बन्ध अपने देश से नहीं । वह देश है बलगारिया। वह कृषि प्रधान है और कितने ही विषयों में अपने देश,भारत,से विशेष समता रखता है। तत्सम्बन्धी वर्णन से हम बहुत कुछ शिक्षा लाभ भी कर सकते हैं। इसी से उसपर लिखा गया लेख भी इस पुस्तक में सम्मिलित कर दिया गया है। तिबत और नेपाल ये दोनों देश बहुत कुछ भारत ही की सभ्यता और उसी के धर्म से अनुस्पूत हुए हैं। इसीसे उनके सम्बन्ध के भी लेख इसमें रख दिये गये हैं।

दौलतपुर (रायबरेली) महावीरप्रसाद द्विवेदी
१० मई १९२८

PD-icon.svg यह कार्य भारत में सार्वजनिक डोमेन है क्योंकि यह भारत में निर्मित हुआ है और इसकी कॉपीराइट की अवधि समाप्त हो चुकी है। भारत के कॉपीराइट अधिनियम, 1957 के अनुसार लेखक की मृत्यु के पश्चात् के वर्ष (अर्थात् वर्ष 2022 के अनुसार, 1 जनवरी 1962 से पूर्व के) से गणना करके साठ वर्ष पूर्ण होने पर सभी दस्तावेज सार्वजनिक प्रभावक्षेत्र में आ जाते हैं।

यह कार्य संयुक्त राज्य अमेरिका में भी सार्वजनिक डोमेन में है क्योंकि यह भारत में 1996 में सार्वजनिक प्रभावक्षेत्र में आया था और संयुक्त राज्य अमेरिका में इसका कोई कॉपीराइट पंजीकरण नहीं है (यह भारत के वर्ष 1928 में बर्न समझौते में शामिल होने और 17 यूएससी 104ए की महत्त्वपूर्ण तिथि जनवरी 1, 1996 का संयुक्त प्रभाव है।

Flag of India.svg