पृष्ठ:कोड स्वराज.pdf/४६

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ प्रमाणित हो गया।
कोड स्वराज
 


हमें मशीनी अनुवाद की क्षमताओं की आवश्यकता है जो इन विभिन्न भाषाओं में से बहुत अच्छी किताबें ला सकते हैं और इसे अंग्रेजी में अनुवाद कर सकते हैं। कार्ल ने कुछ ऐसा करने की कोशिश की है। उनहोंने भारतीय भाषाओं की कुछ पुस्तकों को इंटरनेट आर्काइव पर डाला है, जो एक बेहतरीन योगदान है। यह एक अच्छी शुरुआत है, और मुझे आशा है। कि अन्य भारतीय भाषाओं की अधिक से अधिक पुस्तकें, इंटरनेट आर्काइव पर उपलब्ध


कार्ल ने आपकी इस कड़ी मेहनत के लिए आपको धन्यवाद देता हूं, आप ने जो किया है। हम उसकी सराहना करते हैं। मेरा मानना है कि आप हमें इंटरनेट आर्काइव के बारे में थोड़ा और अधिक जानकारी देंगे। आपके द्वारा ड़ाली गई सभी पुस्तकें, और जो कुछ भी हो रहा है, उसके बारे में हमें थोड़ा और शिक्षित करेंगे।


मुझे यहां, इंटरनेट आर्काइव पर होने की खुशी हो रही है। यह वास्तव में एक मंदिर में आने की तरह है। यह मेरे लिए बहुत मायने रखता है, क्योंकि यह ज्ञान का मंदिर है। मुझे इसके बारे में पता नहीं था। मैंने इसके बारे में पढ़ा था। मैंने काल से इस बारे में सुना था, लेकिन मैं यहां आकर बहुत खुश हूं।


मैं आशा करता हूँ कि मैं यहां अनेक बार आऊं, और इसमें भाग लें और आप सबके साथ काम करू, और वास्तव में यहां क्या हो रहा है, इसके बारे में थोड़ा सीखें। इसके साथ ही साथ, एक बार फिर, मैं यहां आने के लिए आप सभी को धन्यवाद देना चाहता हूं।


मैं पैनल पर अपने सहयोगियों को धन्यवाद देना चाहता हूं। मैं कुछ प्रमुख लोगों के नामों का उल्लेख करना चाहता हूं, क्योंकि वे मेरे करीबी दोस्त और परिवार हैं, और यहां मौजूद हैं। मुझे खुशी है कि इसकी शुरुआत मैं, यहां उपस्थित अपनी पोती, आरिया से करता हूँ।


[ताली]


यह पहला अवसर है जब उसने मुझे व्याख्यान देते हुए सुना है। वह हमेशा मुझसे कुछ पूछती रहती है। इस बार भी उसने मुझसे कहा, “ दादा” (पिताजी के पिताजी अर्थात । पितामह को कहते हैं, “आप किस बारे में बात करने जा रहे हैं?” मैंने कहा, “मुझे पता नहीं। ”


उसने पुछा, “क्या आपने नोट तैयार किए हैं?” मैंने कहा, “नहीं”


[हंसी]


उसने कहा, “क्या आप भारत में अपने टेलीफोन संबंधी कार्य पर बात करने जा रहे हैं?” मैंने कहा, “नहीं।”


तब उसने फिर से पूछा और कहा, “लेकिन फिर आप किस बारे में बात करने जा रहे हैं?” मुझे खुशी है कि वह यहां मौजूद है।

38