पृष्ठ:गुप्त-निबन्धावली.djvu/२३०

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


विदाई सम्भाषण पहले किया और बादशाहके भाईको पीछे। जुलूसमें आपका हाथी सबसे आगेऔर सबसे ऊंचा था, हौदा और चंवर छत्र आदि सामान सबसे बढ़- चढ़कर थे । सारांश यह कि ईश्वर और महाराज एडवर्डके बाद इस देशमें आपही का दरजा था। किन्तु अब दखते हैं कि जंगीलाटके मुकाबिलेमें आपने पटखनी ग्वाई, सिरके बल नीचे आ रहे ! आपके स्वदशमें वही ऊँचे माने गये, आपको साफ नीचा देखना पड़ा। पदत्यागकी धमकीसे भी ऊँचे न हो सके। ___ आप बहुत धीर गम्भीर प्रसिद्ध थे। उस सारी धीरता गम्भीरताका आपने इस बार कौन्मिलमें वेकानूनी कानून पास करते और कन- वोकेशनमें वक्त ता देते समय दीवाला निकाल दिया। यह दीवाला तो इस देशमें हुआ ! उधर विलायतमें आपके बारबार इस्तीफा देनेको धमकीने प्रकाश कर दिया कि जड़ हिल गई है । अन्तमें वहाँ भी आपको दिवालिया होना पड़ा और धीरता गम्भीरताके साथ दृढ़ताको भी जलां- जलि देनी पड़ी। इस दशके हाकिम आपकी ताल पर नाचते थे, राजा महाराजा डोरी हिलानेसे सामने हाथ बांधे हाजिर होते थे। आपके एक इशारेमें प्रलय होती थी। कितनेही राजोंको मट्टीके खिलौनेकी भांति आपने तोड़ फोड़ डाला। कितनेही मट्टी काठके खिलौने आपकी कृपाके जादूसे बड़े बड़े पदाधिकारी बन गये। आपके एक इशारेमें इस देशकी शिक्षा पायमाल होगई, स्वाधीनता उड़ गई। बङ्गदेशके सिरपर आरा रखा गया। ओह ! इतने बड़े माई लार्डका यह दरजा हुआ कि एक फौजी अफसर उनके इच्छित पदपर नियत न होसका ! और उनको उसी गुस्सेके मारे इस्तीफा दाखिल करना पड़ा, वह भी मंजूर हो गया ! उनका रखाया एक आदमी नौकर न रखा गया, उल्टा उन्हींको निकल जानेका हुक्म मिला ! जिस प्रकार आपका बहुत ऊंचे चढ़कर गिरना यहाँके निवासियों- [ २१३ ]