पृष्ठ:चाँदी की डिबिया.djvu/१०४

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ जाँच लिया गया।
चाँदी की डिबिया
[ अड़्क २ ]
 

मिसेज़ सेडन

तुमको बहुत बहुत धन्यवाद! तुमने मेरे ऊपर बड़ी कृपा की।

[ चली जाती है ]

[ मिसेज़ जोन्स जोन्स की ओर ताकती है जो अभी तक फीते बांध रहा है ]

जोन्स

आज ज़रा तकदीर खुल गई।

[ लाल थैली और कुछ फुटकल रेज़गियां निकाल कर ]

एक थैली पड़ी मिल गई। सात पौंड से कुछ ज्यादा हैं।

मिसेज़ जोन्स

यह क्या किया, जेम्स?

जोन्स

यह क्या किया, जेम्स? किया क्या। पड़ी मिली उठा ली। खोई हुई चीज़ है। और क्या!

९६