पृष्ठ:चाँदी की डिबिया.djvu/११८

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


चांदी की डिबिया [अङ्क स्नो तुम्हारा पति उनकी देख भाल कर लेगा, घबराने की कोई बात नहीं । [ वह उसका हाथ आहिस्ता से पकड़ता है ] जोन्स तुम उसका हाथ छोड़ दो वह ठोक कहती डिबिया मैंने ली। स्नो [ उसकी तरफ आँखें उठाकर ] शाबाश ! शाबाश ! बहादुर श्रादमी हो । चलो मिसेज जोन्स । जोन्स [ क्रोध से ] उसे छोड़ दे, सुअर । वह मेरी बीबी है। वह शरीफ़ औरत है। अगर उसे पकड़ा तो तुम जानोगे।