पृष्ठ:चाँदी की डिबिया.djvu/१३१

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


दृश्य २] चांदी की डिबिया जैक अम्मा, शराब को ज़रा इधर दे दो। मिसेज बार्थिविक [ बोतल बढ़ाकर क्यों बेटे, तुम बहुत ज़्यादा तो नहीं पी रहे हो? [ जैक अपना गिलास भरता है । माला [ कमरे में आकर जासूस स्नो आपसे मिलना चाहता है । बार्थिविक [बेचैनी से ] अच्छा, कहो अभी एक मिनट में आता हूँ। मिसेज बार्थिविक [ बगैर सिर घुमाए हुए] उसे यहीं बुला लो, मर्ला । [ स्नो प्रोवर कोट पहिने अपनी बोलर हैट हाथ में लिए पाता है ] १२३ .