पृष्ठ:चाँदी की डिबिया.djvu/१९३

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


दृश्य ] चांदी की डिबिया मालों जी हाँ! क्लार्क क्या तुमने पिछले ईस्टरडे को रात को चांदी की एक डिबिया नं० ६ राकिंघम गेट के खाने के कमरे में एक तश्तरी में रक्खी ! क्या यही वह डिबिया माला जी हाँ! क्लार्क और जब तुम सुबह को पौने नौ बजे तश्तरी को उठाने गए तो तुम्हें डिबिया नहीं मिली ? माला हाँ, हज़र!