पृष्ठ:चाँदी की डिबिया.djvu/१९४

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


चाँदी की डिबिया [अङ्क ३ क्लार्क तुम इस मुजरिम औरत को जानते हो? [ मार्लो सिर हिलाता है] क्या वह नं०६ राकिंघम गेट में मजदूरी का कार्य करती है? [मार्लो फिर सिर हिलाता है ] जब तुमने डिबिया पाई तो उस वक्त मिसेज़ जोन्स उस कमरे में थी? मार्लो जी हाँ! क्लार्क फिर तुमने इस चोरी का हाल जाकर अपने मालिक से कहा और उसने तुम्हें थाने भेजा? मालो जी हाँ!