पृष्ठ:चाँदी की डिबिया.djvu/२०५

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


हृश्य १] चांदी की डिबिय सोता रहा। फिर मैं इसके बारे में कुछ नहीं जानती। हाँ, मिस्टर बार्थिविक ने जो मेरे मालिक हैं, मुझसे कहा कि डिबिया गायब हो गई है। मैजिस्ट्रेट मिसेज़ जोन्स तो जब मैं अपने शौहर का कोट हिलाने लगी तो सिग्रेट की डिबिया उस में से गिर पड़ी। और सारे सिग्रेट चारपाई पर बिखर गए। मैजिस्ट्रेट [स्नो से] तुम कहते हो कि सिग्रेट चारपाई पर बिखर गए ? तुमने सिग्रेट चारपाई पर बिखरे देखे थे? स्नो नहीं हज़र, मैं ने नहीं देखा।