पृष्ठ:चाँदी की डिबिया.djvu/८५

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ जाँच लिया गया।
दृश्य ३]
चाँदी की डिबिया
 

मिसेज, जोन्स

जी हाँ, कुछ बाकी है हुजूर।

बार्थिविक

लेकिन तुम्हें तो अच्छी मज़दूरी मिलती है। क्यों?

मिसेज जोन्स

बीफे को एक दिन स्टैमफोर्ड प्लेस में काम करती हूँ। सोम, बुद्ध, और सुक्कर को यहाँ आती हूँ। आज तो आधी छुट्टी है हुजूर, कल बैकं बन्द न था।

बार्थिविक

समझ गया। हफ्त़े में चार दिन। क्राउन रोज़ पाती हो न? क्यों?

मिसेज जोन्स

हाँ हुजूर और मेरा खाना भी मिलता है। लेकिन

७७