पृष्ठ:देव और बिहारी.djvu/३०४

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


देव और विहारी Chakrarule-Rnddy goose. The birds are supposed to the separated through the night ( Cururcu Tutatra) [ pp. 640. A genas of swimming ords of India, Cusarea rutalta the Brahm. ninenigmot with above Sukur. The male 1safine looking bud and measures about 20 inches. It is shy and wily [pp 594. इन चार के अलावा तीन और वर्ग ( Mergidae, Pedicepidae तथा Prveillatidae) हैं। पारकों में से जिन्हें इस विषय का विशेष अध्ययन करना हो, वे indian vruthology पर कोई भी प्रामाणिक पुस्तक पढ़ें। चक्रवाक एक बड़ा पक्षी है। यह आकार में बत्तक से कुछ छोटा होता है ; पर इसकी बनावट उससे मिलती-जुलती है। साधारणतः नर-चकवे की लंबाई २४१ से २७ इंच तक, डैने की लंबाई १४ से १५३ इंच तक, दुमर से ६ इंच तक और चोंच की लंबाई २ इंच होती है। मादा भी प्रायः इसी प्रकार की होती है, पर कभी- कभी छोटी। चकवे का सिर पीलापन लिए हुए कत्थई रंग का होता है । यहाँ से बदलते-बदलते पीठ और छाती पर का रंग गहरा नारंगी हो जाता है । दुम कालापन लिए हुए हलके हरे रंग की होती है । शरीर का बाकी भाग सुपारी के रंग का होता है। चोंच काली ओर बत्तक की चोंच से कुछ पतली होती है । पैर भी काले होते हैं और बत्तक के पैर के समान उँगलियाँ जुड़ी होती हैं । बहुधा नर पक्षी के गले में काले रंग का एक पट्टा-सा बना होता है। परंतु यह केवल जोड़ा खाने के मौसम में दिखलाई पड़ता है । किसी-किसी के नहीं भी होता। चकवी नर से कुछ हलके रंग की होती है। उसके उपर्युक्त काला पट्टा नहीं होता। चकवा भारत के प्रायः सभी नगरों में पाया जाता है परंतु शिकारी लेखकों ने अधिकतर सिंध, फारस, बिलोचिस्तान, अफगानिस्तान,