पृष्ठ:राबिन्सन-क्रूसो.djvu/१८२

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


राबिन्सन क्रमोद । मैंने दूरबीन लगा कर देखा कि उन लोगों ने अग्निकुण्ड प्रज्वलित किया और उसके चारों ओर घूम घूम कर वे विचित्र आन-भङ्गो के साथ नाच रहे हैं 1-४० १६४