पृष्ठ:हिन्दी विश्वकोष एकविंश भाग.djvu/३२०

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


विकृति mments गो पाम भारतमा ! इममें यादियों का मतभेद देवता माम प्रति। म RET उपादान पारस ; पाद मायावती इस सिको पिपरांमार . गोशायदा यही मितिमा विशारामा मोकार नहीं करते। ये लोग शिति मन पगि wri fnm जगली पनि । मेगा जगा गए हुमा हैइस परिणाम franमरा माम प्रधान किसी भी कारण मी न कर कहने है. कि. यह प्रामा पण गामा गरी २ पौरि मुर प्रति कोई कारगौर विकारका इस प्रकार लिया , लम मे an कारण उत्पनिक प्रति मी मरे । हिमो पम्नुको मजा माग को शो ITERE हारको मारमी है कि उसकी सिलिपे (न्यरुप शान) यदी विकार है। फिर fruitel भगार मागासोतीमार उपरोसर पिपन या मारोपित यमें (जैसे सगे मन (or:- बार रणगि कालो मनयमाशेष होता है। को ससामान रहना जाम कर उसका (माणे माग मूल कारण मानमामि किमी गन्य पदार्थमे : म ) जो शाम होता है उस ग पिग. उरमान या गही है। गाजोलता पिर उसे भय का तात्पर्ग परकिपरिणामयादित माप मौकार करना पड़ेगा। एग गह मिस टुमा, किन विपत पा समाधासरा मा हो काकारमें परित प्रति अविशतिदपद रिमांकी भी गियति नौं । होता है। भगएय का Artमायाम RTE मदतरण, महनारसस्य गीर पथमम्मास पेमा गहीं है। सरर प्रसिपिरति l या प्रति भी विकृति विषयादियो, मासे फार माहित होता गी। कोई सरयको प्रति भारतको विहति , मग उमौ पातुया कार्य गर मी काही . । पराश्य मून महानि उपग्न है. मनपप यह मूर सिर्फ मोनिदोसो। दुग्यो दधिमा मादि प्रतिको विशति ना महात्यमे हार-नवको परिणामयाकाहाकार ममानि मारिति पति , इस कारण र माद्वारगरपकी प्रतिपादका दृटा। वेदान्तिका मा tirixi ६। 3m EARमर पिकनि प्रकार मर्पगही रहने पर भी सपंटो ifreोतो . हिर उममे पशुमार मी ग्यारह दियोको उति है उसी प्रकार प्रा या गाम्फे महीने पर भी प्रकार मकार को मारा भार पारद मिलो प्राकी प्रमानि होती है। मे सीविका को महान से है। पागमा मोउमी प्रकार महार: जिस प्रकार निगदोप है। इसी प्रकार प्रारमें मनीष तररको पिरनिजपा उमसे गाल पजमदागकी का कारण मनारिमविपासायोपातीरमान प्रति पशभूत गोर पाप नियां किगो भो । म जिम प्रकार पE वियर, प्रमोसमाम मोकार या मागहीं होता। प्रश मो उसी प्रकार का वियशंगाय है। पE mकास नि , दिनांको भो पिरति प्रश गायकी कोई यानुहोगी।। । नही। म पर समागम कर.rrari हर गम हिमोको प्रतिदिन बाद यदि ध्यानमा यो (कार) मा गह, और मति (rri गानमा पदम गरी, | AT पर Antai Sr Rमाप्रप. यि mi ritति मामrtemitrate it Aggraferenप नहीं होगा सम्म र प्रमा REAframmier मो. गोविय मीमा र RITER मारमा मोगी होगाभयप पुर . ... mmmm हि. मगरमपान fruire it warfan Ke ofTARIB feart.. .... ..