पृष्ठ:हिन्दी विश्वकोष सप्तदश भाग.djvu/१४

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


मनपारपरमास गिरिपन-प्रपायरी मेनर,(3) म.प्र. : गई और देशाग महीनेमें शीत परिगम योगी प्रमाती रोमन लिग और ( ४ ) प्रोटेस्ट। कनानूर । लागु अगाहित दो कर मामाको मेयायानगरों सालिकर मीर फोगांग मोग धम्म माना है। है। यह मागिनीनोज भीर मामा म्यान मलमा तोदागी गघिर सम्मति दिगाई देनो मनमुग (म० म भुइ इनि मुज-किर।। म १८०३ ८४ की रिपोर्ट में मालूम होता है, शि: कार, फोगा। शि२ मामानेगाटा से --कोड, पद १.२६ कर जमीन योग भी और उस समय . मूगर धादि। २८४५१२६२. पर अमान जोराने ठापर घो। म ग मम्मदिनी । मसी) मा मिनराति भि पिनि, १८.७१६०० मा गमून दुमा था। गदा शो गौ : वि होय! कटका, पुरी। (को०) tim, पहातो. उनमें मायन, पना, काफो, गाग, मिन : नांदी। क्षामचीनी, सुपारी, नारिदर आदि बिगेर उल्लेखनीय 'मनमल ( दिल को एक प्रारका गला कपडा जो है। यहां माग्पिालये, गहुतेरे यांचे है। प्रतियां दो करोड़ बहुन बारीक स्तमे घुमा जाता है। प्राचीन कालमें पह मुल्यका नगरिपन पैदा होता है। मन में बना फार भारतवर्ष में, विशेषकर गाल या शिरमें नर भौर लीगेगमे पोच मेनीमा काम शुरु शिया गुना जाता गौर यहोम मितिना जाता गया। हाल गहां गायकी मोती भी होने लगी है। मोर का भय ना माफे और मुभिरपाद भी महाल प्रगुर परिमाप शाप भौर काफी तप्यार हो गये है। यनती है। मनपा अत्यन्त टिपा मनाष्टि भादि देश दुनियामागमा (दि. पु.) लफेस माग। .. नही देगा जामा मनि यहां दुर्मिर मही मामलागा (दि. शिपार वार म्पर्श करमा, लगा होना है। । तार लागा।वार धार जलगा मोरयगा । जैसे- मह फपरेट, रानी मी पगा। मिया गरे । पलक मलमन्दाना । ३ पुनः पुगः मालिग काना। पारपारका मोटा कपडा और मा नागकरने योग्य । मलमा ( म००) कोणेगा होती है। पालिकट तप्यारी कालिको' यग्न सगरमा (EिT.) मनपा देगी। दिला नहीं येगा। पुरम फेगिम भार पालटों मरमाम (म पु०) गमः गरिनभामा मनिका . RAन करनेशनप्यरो होरदोहा पारण ! मधिकमास । पच-गालाग, अधिमास, मा समग गाया, उम उम गगमे यांगा: म नमाम, गपुगा । इस मण,--"aft. होगा गया। सम्बाका साप सर. मंकानमापिनिय मात्रमामागं मरमागर।" (ना. WITTAIL हो ग मि मागून नाप विष का धीरगहार ! जाता | मिया म. एलायची नशा मोने पर भी गरमासनसमें मलमा पिन कोरिया मरका अपिमा पा। पितु भर हम है। यही उमा बम din पिपर लिया ८ गया है। मन् १८८२ मे सारे मिल जाता है। २८२१२ सपा नियाग्निमा पर मममीन! Tr: RPRETARIA". अर यान होता है। का मामला एका । कमी कमी है, ____गामे २i मप-१८ मुनमी मा दोमेशा मी पर होता है। मान मर्य मनगिरि भोर भमिट मेनिय! भग्नमा सौर माम महो। भागद गामा पुरी गिरिपरी पोरमेश शिर पन्द्र पर होगा। गार हमी मीनि.R. माम मन्निाय । मन्दमागहोगही महीने पद infagu कादी। पदको पापु ।