पृष्ठ:चाँदी की डिबिया.djvu/१०७

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


दृश्य २] चांदी की डिबिया. तुमने बारहा मुझसे कहा है कि मैं तुम्हारे ऊपर बड़ी सख्ती करता हूं मैं यहाँ से चला जाऊंगा तब तो तुम चैन से रहोगी। मिसेज़ जोन्स [ शिथिलतासे ] सख़्ती तो तुमने मेरे साथ की है, जोन्स, और मैं तुम्हें जाने से रोक भी नहीं सकती। लेकिन तुम्हारे जाने की मुझे खुशी होगी या नहीं, यह मैं नहीं जानती । जोन्स इससे मेरी तकदीर पलट जायगी । जब से तुम्हारे साथ ब्याह हुआ तब से कभी भले दिन न देखे। [ कुछ नर्मी से] और न तुम्हें कभी पिकनिक ही मिला ।