पृष्ठ:चाँदी की डिबिया.djvu/१०९

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


दृश्य २] चांदी की डिबिया मिसेज़ जोन्स यह तो मैं जानती है कि तुम उन्हें प्यार करते हो । जोन्स रहेंगे । [ थैली को उंगलियों पर फिराता हुआ, कुछ क्रोध से ] अभी तो यों ही चलने दो । में न रहूंगा तो छोकरे तुम्हारे साथ बड़े मजे में अगर मैं जानता कि यह हाल होगा तो मैं एक को भी न पैदा करता । क्या फायदा है इससे कि लड़कों को पैदा करके इस विपत्ति में डाल दिया जाय ? यह पाप है, और कुछ नहीं । लेकिन हमारी श्राखं बहुत देर में खुलती हैं । संसार का यही ढंग है। [ थैली को फिर जेब में रख लेता है । मिसेज़ जोन्स हाँ, यह इन बेचारों के में बहुत अच्छा १०१