पृष्ठ:चाँदी की डिबिया.djvu/१२२

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ जाँच लिया गया।
चाँदी की डिबिया
[ अड़्क २ ]
 

बार्थिविक

[ सरौता बढ़ाते हुए ]

समाचार पत्रों में निकला था। रसोइयादारिन थी न?

मिसेज़ बार्थिविक

नहीं, खिदमतगारिन थी। मैंने लेडी होलीरूड से बातचीत की थी। वह लड़की अपने प्रेमी को मिलने के लिए बुलाया करती थी।

बार्थिविक

[ बेचैनी से ]

मेरी समझ में उन्हें---

मिसेज़ बार्थिविक

तुम क्या कहते हो जॉन, और दूसरा रास्ता ही क्या था? सोचो, दूसरे नौकरों पर क्या असर पड़ता।

११४