पृष्ठ:चाँदी की डिबिया.djvu/२०७

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


दृश्य.] चांदी की डिबिया काम किया । जब जासूस अफ़सर आया तो हम लोगों में इसीके बारे में कहा सुनी हो रही थी। क्योंकि हज़र, इसने मुझे तबाह कर दिया । अब मुझे कौन नौकर रक्खेगा। मेरे तीन तीन बच्चे हैं हज़र। मैजिस्ट्रेट [गर्दन बढ़ाकर हाँ, हाँ ! लेकिन उसने तुमसे कहा क्या? मिसेज़ जोन्स मैंने उससे पूछा कि तुम्हारे ऊपर ऐसी क्या अाफ़त श्राई कि तुमने ऐसा काम कर डाला । उसने कहा कि यह नशे के कारण हुआ। मैंने बहुत शराब पी ली थी और न जाने मुझपर क्या सनक सवार हो गई थी। और बात यह है हजूर, कि उन्होंने दिन भर कुछ नहीं खाया था। और जब खाली पेट कोई शराब पीता है, तो चट दिमाग पर असर हो जाता है। हज़र, न जानते हों लेकिन यह बात सच and १९९