पृष्ठ:चाँदी की डिबिया.djvu/२१९

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


दृश्य १] चाँदी की डिबिया गया था। वहाँ खाना खाया और बहुत रात गए घर पहुंचा। मैजिस्ट्रेट तुम्हें याद है कि जब तुम आए तो यह आदमी बाहर खड़ा था? जैक जी नहीं। [ वह हिचकता है। मुझे तो यह याद नहीं। मैजिस्ट्रेट [ कुछ गड़वड़ा कर] क्या इस श्रादमी ने तुम्हें दरवाज़ा खोलने में मदद दी? जैसा इसने अभी कहा है। किसी ने दरवाजा खोलने में तुम्हें मदद दी? जैक जी नहीं ! मैं तो ऐसा नहीं समझता। मुझे याद नहीं। २११