पृष्ठ:चाँदी की डिबिया.djvu/२२४

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


चांदी की डिबिया [अङ्क ३ मैजिस्ट्रेट [स्नो से] 'सके पास कोई चीज़ बरामद हुई ? जी हाँ, हज़र । इसके पास ६ पौं० १२ शिलिंग निकले। और [ लाल रेशमी थैली मैजिस्ट्रेट के हाथ में रख दी जाती है । बार्थि- विक अपनी जगह से उचक पड़ता है लेकिन फिर बैठ जाता यह थैली मैजिस्ट्रेट [थैली की तरफ़ देख कर ] हाँ, हाँ ! लाओ, इसे देखू। [ सब चुप हो जाते हैं। नहीं, थैली के बारे में कोई बयान नहीं है । तुम्ह वे सव रुपए कहाँ मिले? जोन्स [ कुछ देर चुप रह कर एकाएक बोल उठता है] मैं इस सवाल का जवाब देने से इनकार करता हूं। २१६