पृष्ठ:चाँदी की डिबिया.djvu/२२६

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


चांदी की डिबिया [अंक जोन्स [ जैक की तरफ़ उँगली दिखला कर ] 'पाप उनसे पूछिए । उन्हों ने क्यों उसकी थैली- रोपर [आहिस्ता से] क्या हज़र को अभी इस गवाह को और जरूरत है ? मैजिस्ट्रेट जगह पर बैठ जाता [व्यंग से] नहीं ! कोई फायदा नहीं । जैक कठघरे से चला जाता है, और सिर झुकाए हुए अपनी 1] जोन्स श्राप इनसे पूछिए कि इन्होंने क्यों उस औरत की- [ लेकिन गंजा कांस्टेबिल उसकी धास्तीन पकड़ लेता है। ] गंजा कान्स्टेबिल चुप! २१८