पृष्ठ:परिवार, निजी सम्पत्ति और राज्य की उत्पत्ति.djvu/११

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
पृष्ठ को जाँचते समय कोई परेशानी उत्पन्न हुई।


पुनर्निर्माण किया। उनकी महानता इस बात में भी है कि उन्होंने उत्तरी अमरीका के आदिवासियों के रक्त-सम्बन्धों पर आधारित जन-समूहों के रूप में वह कुंजी ढूंढ निकाली जिससे प्राचीन यूनानी रोमन तथा जर्मन इतिहास की सबसे महत्वपूर्ण तथा अभी तक अनबूझ बनी हुई पहेलियों को सुलझाया जा सकता था। परन्तु उनकी पुस्तक एक दिन का काम नहीं थी। लगभग चालीम वर्ष तक, जब तक कि वह अपनी सामग्री को पूरी तरह से समझ लेने में कामयाब न हो गये, वह उसके साथ जूझते रहे। यही कारण है कि उनकी पुस्तक हमारे काल की इनी-गिनी युगान्तरकारी रचनाओं में से एक है।

आगे के पृष्ठों में जो व्याख्या दी गयी है उसमें, पाठक आम तौर आसानी से यह पहचान लेगे कि कौनसी बातें मोर्गन की पुस्तक में दीन है और कोनमी मैने खुद जोड़ी है। यूनान और रोम की चर्चा मदत ऐतिहासिक अशों में मैंने अपने को केवल मोर्गन की सामग्री तब है. नौन्दि नहीं रखा, बल्कि मेरे पास जो मसाला मौजूद था, उमा मोगल किया है। केल्ट और जर्मन लोगों से सम्बन्धित हिस्से मुठ मान है; इस विषय मे मोर्गन के पास जो सामग्री थी वह भी ममी मूल रूप मे उनकी अपनी न थी, और जहा तक नदियों का सम्बन्ध है, एक टेसिटस को छोड़कर, उन्हें मूल मन में अंदर श्री फ्रीमैन' की प्रष्ट उदारपंथी झुठाइया ही उपलट ई नगद र के लिये आर्थिक तर्क भले ही पर्याप्त रहे हों, 7 दिई विलकुल अपर्याप्त थे; इसलिये उन्हें मैंने मृट किट प्रस्तुत किया है। और अतिम बात, जाहिर है, र दिन में छोड़कर जहां मोर्गन को स्पष्ट रूप में उद्घटना, ह. नतीजे निकाले गये हैं, उन सब की दिया।

२६ मई, १८८४, के करीब लिखित

Friedrich Engels. Der Urspreme der Familie, des Privateigenberger und des Staats. Hotlingen-Zurich, 1884, में प्रकाशित