पृष्ठ:हिन्दी विश्वकोष एकविंश भाग.djvu/१२०

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


यापयन्त्र दम, अतिरिक मार को दूसरा पर प्रमानित नहीं। वासयें तकफे तार तारसता उसके पास दोता। पौडलका यह सार जिसे मन्द्रसप्ताका पक्षम कर पशम पप्पत सणांधते है। इस करके पोधोकी रीति है, किसी किसोरागफ गाफे समय समय इस यन्त्रको समसल स्थान tatti यह मध्यम पर भी बांधा सकता है। यह यन्त्र इम. बाद दोनों हाशे दो विकोणाशति कोन गाने समय के.पल गायक स्वरमिधामपंसिपे दो राय पदार्थ धारण कर भत्यात सायधानी सापसे am हम होता है, इसके बनाये स्वतन्त्ररूपसे कमी वजाया | है। इसका स्पर बाहुन ही मोठा होता है। मिम पारा । महो जाता। किसी किसी यंग इस यन्त्र में उसे तोम तार रहते हैं, उसफे हाय तार तो पूर्वोक्त नियम लेकर दश पन्त सार पगं पचीस ले कर संतालीम हो यांधे जाते है और पाको तार गायक मापसा. पर्यन्त सारिकाएँ यिन्यस्त रहती हैं। मालूम पड़ता नुसार कोमल एवं सोम राम बांध लेते हैं। है, उन दम इसको यादन प्रणाली तथा प्यार मारपी योगा। स्यान्ता होता है। कहा जाता है, कि.गद यग्य पहले पान तारयाली पोपा रण्डीवm. पदल सुम्युम धर्म में बनाया था, इसीलिये इसका नाम में भोर एक तीन तारयाला छोरा गाडा लगा कर मा. तुम्युरशीणा पदा। रणो योणा बनाते हैं। इस पास के प्रयाग में मालद कात्यायन पोणा। । गौर छोटे एण्टेमें सोलर इस प्रकार म यस्तोम साहि. कात्यापम योणाफे नाग, उत्पत्ति तथा निम्माताफे , कारपिन्यस्त रहती हैं। प्रधान पठेने पंधे पांग तारों मामफे सम्यग्यो नागा प्रकारको बातें कही जाती है. दो मन्द्रसमा. निम्नसारसके परम, दो गम किन्तु हम लोगोफ विचारसे कात्यायन प्रापिने दो पदले. गार एक एक पंचम स्परने एवं छोटे घण्टे के तीन सा पदल इसका निर्माण किया था, इसमें माघ नदों। ये एक गन्द्रमप्तकफे परज, एफ मध्यम और पापन म यसमें एक मौतार पपहार करते थे, उसीके गनु पर शायद रहते है। ममता योणादि मन्याम्य यात्राम सार पदयात्र पदले शततमो नाम पिच्यात पा किन्तु दाई मा स्यर पाये जाते है। किंतु प्रसारिणी माडे माधुनिक कास्पायन योगा सौ तारको जगह सर्यच. तोग सप्तक स्यर मिलते हैं। इसकी यादन प्रणाली पाईमसे लेकर तोम पर्यत तारोकादो परदार दग्ना अन्यान्य यतीको पादन प्रणाली समान नहीं होगी। शाता है। ये सय तार लोपिने होते है और उसकी पद यस किसी ममतल म्यान या गोदामा कर बांग माया दो हाथी दाती है। इस पाको पफदाय की पराष्ट्री थापान करवाया जाता है। लाये भीर साधाय गौर कलकादीप. सदमे : भावान साए माघ पनि हार गंगूठेमेष्टमा फर पर गरियों द्वारा मायर करको रोति की जाती हैं। शिम, मारिका पर संघर्ष कर. प्रत्येक स्थाfire. पान याम तार यो एते हैं, उन बाम तारों जगर, दमाता। पर inाधुनिक 2. प्रभा RIA सार मामासक पासे रनियाद मोगा। , द्वितोप मा सार RARE पदाम ने कर स्परयोणालयन भागोन । म गाल . गिधार REET, सुभाय माता तारसमके : नानास सादीका EET र निषाद पा र दामो मार AME. एमा। पर या महामार्ग यदुत दुध मिता पहला वारो है। कुछ लोग गम मांग सावरता। पिता समनोगोलाका पकमril शम, धन, निगर, गायन रिमोद मोम गामे महामार मार पर पर दश . TIK AIE REATER पगमेने पर लगा माय बदल apr पो नाम निगए पप्पामार मार न बार तासRE माता रमाहममे गारनार METER पीरनिरा पगार हैं। ये मार RE ramr पहा पर