पृष्ठ:हिन्दी विश्वकोष नवम भाग.djvu/४४९

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


५ पटाबारट (Atacamite)-या पेरू और चिलो जा सकता है, किन्तु उससे रमको भङ्गा-प्रवणता बढ़तो देशमें मिलता है। इसको Oxychloride of coner है। फो मटो ५ भाग टोन मिलानसे यर ललाईको भी कहते है। लिए पीला, कठिन, धन और ध्वनि कर हो जाता है। ६। क्रिसोकोला (Chrssocolla)-उत देशमें ताँबेकी तथा जङ्ग नहीं लगतो। अत: टोन मिलानेसे ताँबेके खदानों में यह मिलता है। इसको Silicare of coppe | हाग और भी अधिक कार्य होता है। ५ भागमे अधिक कहते हैं। इन दो धातुओंसे भी ताँबा पृथक किया जा जितनो टोन मिलेगो, उतनी हो उसको भङ्ग प्रवासा सकता है। बढ़ेगी। साँबमें तड़ित-परिचालन-शक्ति चांदो के सिवा अन्यान्य १ peculum metaal - ताँब माथ ग टोन धातुपोंकी अपेक्षा बहुत ज्यादा है, मोलिए उमई मिनाने मे जो धातु चनतो है, उममें पालोक प्रतिक्षेप तारको महायतासे ताड़ितवार्त्ता वा तार भेजा जाता है। करने की गति बढ़ती है। इसलिए हमको स्पे कुलम् धातु साँवा प्रायः सभी प्रकारको मोलिक धातुओं के माथ करते हैं। प्लिनिका कहना है, कि पहले इम धातुसे मिला रहता है, जिसका अधिकांश औषध आदिमें व्यव. दपण बनते थे। हमारे देशमै भो कोमके दर्पण बनते हार होता है। नाइट्रोनिउरेटिक एमिड और पामोनिः दीव पड़ते हैं। वर्तमानमें बहुत जगह पूजा, विवाह याके मयोगसे ताँबा गलता है। कलोरइन गैमक प्रादि कामि कमि का ट,कड़ा ( मलिन होने पर भी) संयोगमे ताँबा जल सकता है। दर्पणको तरह काममें लाया जाता है। तॉबसे नित्य काममें पाने लायक ओर कुछ मिश्रित २ Munta's moral-जहाज और बड़ी बड़ी धातुए बमतो हैं ; जैसे पौतम्ल-पीतल देखो। मुञ्जको __नावोंके नोचे यह धातु व्यवहत होती है। १८३२ ई में धात ( Munta's Metal ) प्रिन्सको धातु ( Prince's मि० जी० एफ० मुञ्जको इसका पेटेण्ट दिया गया था। metal ), मोसेयिक स्वर्ण ( Mosaic gold ), मन्त्र हिम ६० भाग तांबे और ४० भाग जम्त से यह धातु बनतो है। स्वर्ण ( Mannheim golit ) नकल ब्रोञ्ज ( Immita- ढाल कर सको बड़ो बड़ी चहरे बनाई जाती है। tion bronze ), मिमिलर ( Similor ), टोम्बाक To- चहगें के बन जाने पर उनको गन्धक द्रावक से धो दिया mbac ), और कांसा ( Bele metal ). जाता है। यह देखने में पोलो होतो है, निखालिय ताँबेका अणविक गुरुत्व ३१ ७५ है, पापेक्षिक तापसे ताँबेको चद्दरको अपेक्षा इस धातुको चहरसे उहेश १.०' के मध्य ०८५१५ अवस्थाभदसे आपेक्षिक गुरुत्व अच्छो तरह माधित होता है। तबिको अपेक्षा इममे में विभिन्न होती है। शुद्ध तबिका आपेक्षिक गुरुत्व तला मढ़ने में कम खर्च पड़ता है, किन्तु युद्धक जहाजो- के लिए अब भी इसका व्यवहार नहीं होता। ___तबिका खाद कसैला है, इसमें ग्रामिता गुण है।। ३ । Prince's motal -८० भाग तबिके साथ २० तविको ज्यादा देर तक हाथमें रखनेसे भो ओ धूमने भाग जम्ता, टोन और सोमा मिला कर यह धातु बनाई सगता है। यह चाँदोसे कड़ा और अत्यन्त घातसह है। जाती है। इसमे ब्रोन धातुको तरह के रंगकी कनीको पोट कर इसका इतना बारोक वरक बनाया जा सकता जा सकती है। ८५५ भाग तांबा और १९५ भाग है, कि वह हवामें उड़ने लगता है। इसमे तार भो जस्ता मिला लेने से इस धातु पर छैनौ चला कर मूत्ति बहुत महीन बनता है। ०.१७८ इञ्च मोटे तार पर बनाई जा सकती है। इसका रंग घोर लान होता है। २०२२६ पौण्ड वजन लटकाने पर भी वह ट टता नहों। ४Mosaic gold-बहुत ठण्डे स्थान पर ममसागर्क सर्दी या स्वामें रखने से इस पर अङ्ग लग जाती है जिसे जस्ते और ताँबे को मिला कर गलाया जाता है। उम तबिका कल कहते हैं। यह कला विषात होता है। गलित व्यको खब घाटा जाता है, घोटते समय फिर कि टीन मिला कर उसको पौरभी घाससह बनाया उसमें थोडा जस्ता मिलाया जाता है। घोटत घोटते Vol. IX. 112