पृष्ठ:हिन्दी विश्वकोष विंशति भाग.djvu/३३

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


रोम-साम्राज्य ६०० रोमक घुडसवार प्रतिभूस्वरूप सामनाइटो के पास रोमनी मिनटने महा कारण जानने के लिये एक दत रहेगे। जब यह समाचार रोममें पहुचा. तब सेनेटके । भेना। किन्तु यह दूत मनोनित अपमानित किया सदस्य इनकी की हुई प्रतिज्ञाके पालन करने में सभात गया । टेरेगटम और रोग धीच युद्ध छिड़ गया । टेण्टा- न हुए। उन्होंने कहा, 'सेनापतियों के स्वीकृत प्रस्ताव- इयों ने यूनानी एपिरामकं गजा पिरदास के निकट के पालन करनेसे हम लोग वाध्य नहीं है।' फिर युज, साहाय्य प्रार्थनाको पिरदास मन ही मन ममूने इटली होने लगा। गेमका भाग्य फिर चमकने लगा। ईमाने , देश पर अधिकार कर एक प्रकाण्ड हेलेनिक साम्राज्य ३०४ वर्ष पूर्वा रोमकों ने सम्पूर्णरूपसे विजय प्राप्त किया। स्थापित करने का मला कर रहा था। मौका देख कर इसी समय एट्रास्कानाने पराजिन हो र रामको अभी टेरेण्टाइनोंको सहायता देना स्वीकार कर वह एक बड़ी नेता स्वीकार कर ली। मध्य इटलीके अधिनामी भी' फौज एकत्र करने लगा। शीघ्र ही उसने मिनो नामक रोमके साथ सम्मिलित हो गये। ईमाको ३०० वर्ष । एक सेनापतिको ३००० पेदल सैनिकों के साथ टेरेण्टम पहले रोमका प्रभुत्व मध्य इटली पर सम्पूर्ण रुपसे वह मगरको भेज दिया। अन्तमें ( २८१.६० पृ०) उसने मूल हो गया। २०००० पैदल, ३००० बुद्धमार और २० हाथी ले कर ३रा सामनाइट युद्ध ( ०६८ २६०६० पू०) रोमके विरुद्ध युनयाना की। टेरेगटपमे पहुच कर ___रोमकी उत्तरोत्तर उन्नति देन कर सामनाइटो'ने फिर । उमने रङ्गालयका कोडाकोतुक बन्द कर दिया और युद्धकी घोषणा की । गलो ने चाहा, कि उनकी सहायता मय युवको को युद्धविया सिम्पाने लगा। रोमको से युद्ध करें । मक्तिनस और सियस रोमक कन्सल भलेरियस निमिनाम ससैन्ध लुका- नामके दो कन्सलोने फौजोंके साथ रणक्षेत्रको याता नियों से हो कर चले । पिरहासने कोशलसे रोमक कन्मल- की। डेसियाने भयङ्कर युद्ध कर प्राणत्याग किया।। के पारन पत लिग कर समय मांगा। कन्सलने गर्वित- मेक्सियसने जयलाभ किया। सामनाइट फिर रोमको के । भावसे उनको स्वदेश लौट जानेका परामर्श दिया। साथ मिल गये। उस समय पिरहासने युद्ध करने के लिये ये यात्रा की। इसके दश वर्ण वाद पद्रास्कान तथा गलमाडिमो. सिरिस नदी के किनारे हिरालिया नामक स्थान दोनो' झीलके निकट युद्धमे पराजित हुए । अब रोमको दक्षिणो औरकी फौजें आपसमें जुट गई । पिरहासने पहले सीमा बढ़ने लगो। दक्षिण इटली पूर्णकी ओर यनानियो घुडसवार सैन्य ले कर रोमसैन्यों पर आक्रमण किया। द्वारा उपनिविष्ट हुई थी। इससे यह स्थान मागना । रोमक 'लीजन' भीमवेगसे आकारणको रोकने लगे। उस ग्रोशियाके नामसे परिचित था। इस स्थानके वासिन्द । समय पिग्दासने गैदल सैनिको की परिचालना को । लुकानियों द्वारा आक्रान्त हो रोमकोंकी सहायताके भयङ्कर युद्ध होने लगा। ७ वार नया नया याक्रमण इच्छुक हुए । रोमको ने उनकी सहायता कर लनानियो - : हुआ , किन्तु जय पराजयका निर्णय किया जा न सका। को मार मगाया और वहा रोमसैन्य कायम किया। इस इसक याद पिरहासने रणइस्तियों को आगे बढ़ाया। समय रोमकों को विकट युद्ध करना पड़ा था। यह इमा। Patपलेकी बात हैं। हाथियों के पराक्रमको देख रोमक भाग गये। यह ईसाके के २८२ वर्ष पहले की बात है। रोमक कन्सल दश नावों पर सब दलयल टेरेण्टम पिरहासने रोमकसैन्योके वीरत्वको देख कर कहा था, कि ये रोमक सैन्य मेरे पास होने या मैं इनका नेतृत्व मगरके सामनेके समुद्रसे रोम लौट रहे थे । टेरेण्टाइनो ने रङ्गालयकी ऊंची छत पर चढ कर इन्हे समुद्रपधसे । 1 करता होता, तो मै पृथ्वीको जीत लेता। उसने देखा कि जाते देखा। देर न लगी, मौका देख कर इन सवो'ने । ____एक और युद्ध होनेसे उसकी अपस्था सोचनीय हो जलयुद्धको तय्यारी कर दी। ४ नावे दुवा दी गई। । जायगी। इससे उसने रोम दत भेज कर यूनानियोंसे सन्धि की प्रार्थना कराई। विन्तु यूनानियोंकी स्वाधीनता 'कन्सल भालेरियस मारे गये। बाकी सब भाग निकले। अक्ष पण रखने का प्रस्ताव किया गया था।