पृष्ठ:हिन्दी विश्वकोष विंशति भाग.djvu/३३६

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


लुयाण्डिका ३४१ मागनेपाला, चाइ । २ दुराचारो, दुचालो। ३ नोटा, उशना (हि. वि०) लुहकाना दग्यो । कमोना, पदमाश। उडको (हि.सो.) लुदका देखा। उद्या (दि० वि० स्त्री०) बोरो या बदमा। लुम्सुहाना (हि० सा० ) मखदाना देखो। लुजा (हि. पु०) समुद्रमें यह स्पर नो पहुन । लुढाना (हि० कि० ) १ जमीन पर नीचे ऊपर किरते गहरा हो। हुए वढना या चलना, गे की तरह गोचे ऊपर चकार ल श्शन (१० पु.) १ उत्पाटन, चुरकोस परड कर | प्राते हुए गमन काना, दुलपना।२ गिर कर नोचे ऊपर झरष साप उखाडना, नोचना काटना, रामना) होते हुए गमन करना। ३ न-यत्तियोंकी एक मिया। इसमें उनके शिरक द ल लुढ़काना (हिOf० ) जमान पर इस प्रकार वगना कि नोचे जाते हैं। नोचे ऊपर होता हुगा कुछ दूर बढता जाय, दुरकाना। सचित (१० लि०) उत्पाटित, उसादा हुया, नोचा | लुधियाना (दि० कि० ) गोल बत्तीकी तरह उमरो हुइ सिप करना, गोल तुरपना। श्चितदेग (स० पु० ) जैन सादायिम्भेद। घरोग लुएटा ( स० पु. ) लुटतीति दुएट ग्युर । शावविशेष मोपय मादिस सिरफेवाल और शगेरके रोए साफ एक प्रकारका साग। करते हैं इसलिये उनका यद नाम पहा है। एग ( स० रखा०) एट अङ्राप ल एठन, लूटना। उरयना (दि. f० ) परपना दया । एटा (स० पु०) रुएटताति लएट (जल्प मिला युटलुपट लुटना (दि. क्रि०) १ मरेके द्वारा लूटा जाना, डाकुओं । वृह पाका | पा स१५५) इति षन् । धौर, चोर । फे हाय पा पाना । २ तबाह होना, मयस्स बोना। लुएटाको (स० प्रा० ) एटाक पित्यार डा। सोचार, 2टामा (दि० मि.) १दूसरेपो लूटने देना डाकुओं सोचोर। मादिको छोन रेने दना । २ वरवाद करना या पना एठा (स.नि.) लु एटमति लु एठ तु । स्तयारक या प्यप करना । ३ मुभरभर चारों ओर इमलिपे लटेरा। फॉना जिसम जो भाई सो ले, बहुतायतसे वाटना रण्ठन (म.लि. ) ल प्ठ न्युर। १ लूटना पुराना। अधाधु घ दार परना। ४ मुफ्त में देना पिना पूरा मृत्य २ढरना। लिये देना। टण्डनदी (सं० प्रा०)पा नदाका नाम) लुरिया (दि ० प्रा०) जल माल पा रखनेरा धातुमा हारा | लुण्ठा ( स ० खा०) र ण्ट गट विषा राप । र ण्ठन वरतन छोटा रोटा। टा लुटेरा (६०० ) परदस्ता छान लेनेवाला, हर दिपाल पठार ( स . पु०) पठ-पावन् । १ पार, पामा पर पामार पाट पर दूसरे माल निगराया । २ चोर । टहर (दि. ना० ) यह भेट शिमके का छोटे हों। रण्टि ( स० स्रो०) दम्युत्ति लूटपार । लुटन (fe मो०) लुठ माये व्युट । भूमि पर घोश एण्ठो (म.सा.) पोदका रोटना। वारवार धमोपदनम या लोटना। लुएट ( स० पु.) म्तेन, घोर । कुटनभ्यत(form) ताका नाम । इस जुठे लण्डमुण्ड ( स० मि. लिसा मिरदाय पैर धादि घरपालुवातास भी रदत है। दमाद मतीरा पटेही फेयर पदका लोधरा रह गया दो दिवाm का मामोटेगा । वैरका, रंगा लूला । ३ विना पता हूँ। ४ चा हो दुटिन (H० वि०) उस पार पार भूमि पर एोटा गठरोगताद स्पेरा हुआ। शुप्रा पाव-पेशिल मपात पराप्त । लरिष्टा (म० ग्यौ०) न एडो सापन, ततष्टाए । एपेट इसरना (बि. शिफ्ना दरा। Jए सूतको पिडा या गोनी। You