पृष्ठ:हिन्दी विश्वकोष सप्तदश भाग.djvu/१६

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


पनपास दिर निशिगोस प्रकार १२ मदोगले १२ | पर कानिमाम भानु-हिन, गगन शप सौर गाय लिपि माली हैं। महिसायमे हा याने ३० मिपि मन है। बद गां। रामो, गा, उमेट रयादि पसंद भानुनास्ति या मनमामो समय कम है। पा में शादी भासानिमाम होगा, उसमें मौर- तना हो मलमासमें प्रागको पति होगी। कानिम्मामा ३० दिन अन्तर रहेगा। पांग पर। भानुदितमें नहीं होती। पर हो. पहा गर एनिम पारदेवा मागाशिसार गार गानासमें ६० कि.६, पर या अभूति : मामिस सिi का भला हो गया है। इस प्रकार फमो सौर-माधिन मासमें पदि मलमास देण्यासाप, सो पेशा मारिफ मय मासमें मी मन्दवैशायरामास ही माना है। ऐसा होनेसे दो मलमाम होगा। माश्मिन भौर पैगारा पति मा. मामका जो साधारण लक्षण है उसमें म्पतिमाम देवा माम. पक्षण दिगाई.नो पेशाग मास हो मलमाम जाता है। ३० मिति दस दो मलमाम होगा। होगा, मायिन मास नहीं। भाचिन माम माहित मनमार होने पर एक ही नामके दो चान्दमास होगा। होगे है। उसमें फिर ३० दिनसं अधिरका अन्तर मिस पर्व में एक मलमास और एक भागुलहिन मास महो हो माता। हम लोगों को पारद्रमासमें होनेवाली होता है उस पर्व में एप. क्षय माम भीमा करता है। जितनो शिग है. से कमसे याम ३० दिनये. मीनर हो । जिस मौरमामफे मध्य ५ मापका भी भारत दोगी। चा गुग्यनान्द भाचिनका कार्य सौर माथि पाया जाता है. यदी समारा। कानिक, भा. में होगा मोर कतिक, सा को ठीक नदीं। बाण भौर परको यो पर अन्य माम अपमाम गो हर तीसरे वर्ष में मलमास हुमा करना है। पहले। होता। मोटापा को यात काही गां. पद मायिक गि ____ मनमास, मागुलहित मार मार सपमाम गोगों प्रापमं । फागुनारे कानिक समापनों मदोगे मलमास दीपियाहादि कार्य अनुपगुल। पर मरमार दोमाया है। माघमाम मलमास दो गी सकता है। पारिक भाव, निधिगिरीविदित देवपूना माहिकार्य पर परमासमे कमी भी नहीं। | मोनहीं होते, मानुदित और पमाममेहा ___ मलमासर तोमर यांग होता है, पर पहले ही मुमालानुटव गाय, गर्भापाम, मयनादि पायुका है। परन्तु भाकमा ३.५५ मा पेसा मग्न प्रागनाम्न संस्कार नपा मग सकारात दिन देश पर लिग है. कि ममावस्या तुलासंकान्ति. भार, मघा-सपादोभाट, भाम्हिनापन, गलगाम. (गौर काणिमामा भाम, उस पार ममापस्था. मृगमतिका पापिकधान कार्य मलमा प.मरे दिन भयान सीप प्रतिपदर्म एरिनाम । सानिमममित्तिक मीर का मास मंशास्ति । मोर भाप मामका भरमन), मपं. दो मलमास निधि। NERमायामा नुहानि (मोर परमाREE 'मागान मा पम्मी पापा। माराम पातिदमाममें मलमास मा मध्यमा मा . मान आये। गवार मा किरारा मामी गरमामा भाग रोताको माया मार मारा, मास RATRI दो मनमा finan? | जामे मा मापा मगुन होता है। मै मार मा माm 'म दि. ऐसा हो म मा पर मे दो । पाको मोनो मनमा से मिला। मामा मामी मोगर महो। गदिमा (II) मी पाति पदमाnिt Ree में AAP को frana रियां नम: कान । उप VEER पर ! मनाम k, regaig, र योर FAILI ना पता पप- मशिनापन, मामा,