पृष्ठ:हिन्दी विश्वकोष सप्तदश भाग.djvu/४७०

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


मानमवन-पानमापन सद पददेश पिरामिग है। माता पुगण । प्रासाद पनगाण शिमका गान निदर्शन माह भी देसम नियाद किया द सिमित है। वाम सर लो- माता है। मका जल पक नाले हो कर मेलम नदी- को पिर मरनेपानी पूष्यमलिला मरयू नही निकलों में गिरता है। २। दमयं. किनारे पास नामर उपयन भयभित है। मानगोग (म.पु. १ मत पग, निता । २५६ प्रति-तनप ग्राम नामक रासम गाने अनुग के माय! गमा पर रहता है। मानमयत ( ) मानसरसं मतम् गापाfir. पासपुरा लिया जिसमुद्रमार्गति मगर पर पम् ममामः | अदिमादि। गिरा पौर गिरकर प्रदक्षिण पाता हुमा गार में महिमा मत्यमरने माता- विमो नरमे दगा । इसी प्रकार पधा. एनानि मानगान्यागानि गु पराभो ।" ( ग). मगर पूर्व पाराम मानस. पश्चिमधाराम गालोर तथा हिमा, मस्य, मानेय, प्रायन गगा माला र धाराम महामवादको उत्पति हुई गो । ! (दामदीनता ) ये म मानम मन है। पौराणिक पिपरणमे नपा प्रतीत होगा कि मानसनानगपु०) एक प्रकारका शास्त्र, मनोपिमान । प.मास गती पावमि पुण्यमलिला गदो मौरहर इसमें इस वातका यिनन होगा tirमगफिम प्रकार का मरी । पपा सिन्धु, माता और सम्पु पाप करता है और उनको शियां किस प्रकार RTE (प्रलपुष नद) पदोस निम्न फर पश्चिम भोर पूर्वको : होती है। भोर गदगद है। पाको धारणा कि, गहा और मागमशुन ( म० पी० ) मागमी शुरु । मारिक मता का उत्पतिमान मामला है। रितु यसंमान पोशामनापीया। भनुसन्धागो गागसरोपर पाEिET रापणार्ग मानममताप (म.पु०) मानसाय मानाः | मा. TE का गिफामा ग्पिर दुगा है। पीटा, मान्तकिदु। शियनिगम पलामपर्यत, पाशस्थ मागम माननमनपागोमनामी सम्पामिपोंके तर पर सरा गियरमा मन्दपुराणये मियागः (१५. २५०) में प्रकार संस्थामी । जो गर को मन गार लम्या मनिसार पणित है।

पर गुदाधन परित्याग कर गया उस. iifra'

दिमा .मनमें-

शगुष्ठानमें प्रा रहने, भया गैरिफ पात्र भावि नहीं

omi नया रामनगर। सारण गरते यदी गास गामा पहलान है। गि मोगरा Arket" (101 , माममगर (म.ए.) मागम रोग, मानरोपर । प्रदमाग हिमालप गिमापे. प्रभाग , मानमम (100) एक पुराना । ग. मगग ३० योजन विगत मागर दी गरि यो गी! : प्रदेश र भरोगा। गत मागास प्रादिगिमान गनुनमीप स्माप.. मग नाम मानगपा मग मोमा परम पामको भूमिका मां पर मनमा-कारागण पनिंग | लेकि • मुजपितु मामा.गिरीमागगरोपणे मार्ग। मामा mir A ur . मा mali EIA ART mrkn i गाना होगा। या frmatra wit merokarani H i ten) भीमर मोहा। कि निar Ka: ARIATE जिगर Mantrict. पर मना ridine योग है . imire : nummer RT.ITRINATHer miREPS)