पृष्ठ:हिन्दी विश्वकोष सप्तदश भाग.djvu/६२०

विकिस्रोत से
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ शोधित नही है


पिगटो पो मन् १८१.१०. शून मास माहम फिर . सैम्प मेज फर गोपा, माप, गौरिगम और मामा माद .. ET फारमको गये और लेगाराज तुनीय भारतमहासागर द्वीपों पर अधिकार किया। इस मो समय गाना महारफे उपदोंकन फारमको : दाद यर और उमफे निपटपं दोषों पर कक्षा पर । भेटे । मदार फारगराजने सन्तुष्ट हो कर जोर लिया। म्यागत किया। उन्होंने मालकमको मूल्य गलयार इस समय कम्पनीको फिर मगद पानेके विषपद . पौर को उपाधि दी। मालकाने फारमराजको "लएडो घोर भान्दोलन हुआ। भागमा दिया। भात मी फारममें इसे 'मान्द। लाई मिएदो मन् १८१३ १०. अन्तिम भागमें काकासाम' कहते है। मी समय मौभाग लक्ष्मीने पीर नेपोलियनको कार्य छोट फर दिलारत मल गये। उन्होंने यही गानाको स्याग दिया। उस समय निश्चिन्त हो मालाम मोत्य। से गालवर भारतका सामन किया था। उन्होंने कामे नित गुग। जैसी शामन युनि दिलाई थो, पैसो पदले फिमोने मो मार विगांकुरका युरा लिया। मुटनाना दिपाई नदों थी। इसपे पहले सरकारने जो प्रण लिया । पंपराजय, याद मेगा-राजये. माश अंगरेजोको दो था, उसके लिये सरकारको १२) सैकः मूद देना परता मंशियां हुई। किन्तु विगांकुरराजने सन्धि. अनुमार गा। किन्तु मिण्टो समयमे १५०००००० सालाना पान दिनों राम कुर भी नहीं दिया। जब अंगरेजोंने राजस्वको गृति करने के कारण कम्पनी कागके गूदरी भने निर्दिष्ट अर्थको माग पेन की, तब उन्होंने कई तरह दर ६) २० सैकमा हो गई। मिष्टाने अत्यन्त विसताफे. माघ भारतका शामन किया था । यंगालिगों को शो पो पायमा फर उस किता। यह सुन कर गरज पृदिप लिये उन्होंने पूरी चेष्टा को चारा घेलेल्लो समय . गरदेष्टने पर गाम्बी नाम राजा. दीपानको पदम्पन में फोटपिलियम कालेजको स्थापना हुई थी। सोने कर दिया । दीवान नायकों को उनेजित कर भीर मान्मो चलेसलीमा सानुकरण कर दिग्दर्शनशान गादिपाग सियोग महापनाको माधना गर अंगना विद मानित करने लगे। कुछ ही दिनों में ४००मन्य भीर के लिये गयद्वीप (नदिया) और मिशिला पाठशाला १६ सोपे एकत्र को गाँ। कुलन नामक स्थान येलने शनि को यो : सियासर अन्याय अगदोंग मुममः . गरेगी पर प्रपल येगमे मारपशिपा। किन्तु न ! मानाफे दिये मदरसे भी गोले गये । यानिटिकम गाट को प्रचार समां होने वाद पे माग गये। यो। प्रति उन्होंने अभिगोग उपस्थित कर दिनुमोके प्रति को हो दिनी नगरेको मैन्गसंध्या यह जाने. कारण, उद उदाग्भाय दिगलाया गा, यह हिन्दुगोपनप कभी येलने तिचारमाध्यमें जा कर गरम ली। येन दो भूल गदी साता। rian युख पर भन्तमें पराजित हुए। लगेर उन्दोंने सरकारी कामे मागर्म पर गभियान Fi पहले हो मान्मइत्या कर लो। उसमा भा। भार एक प्यारण बनाने की विशेष चेयर को पी गौर फांसी पर लटका दिया गया। गरका विलय / धोरामपुरसे बङ्गमागमें वाइपिटका अनुपार प्रकाशित सियोर मीराचीन होना पड़ा। गोलो हरा करानमें पिरोष सदायमा पहुँचाई यो। उममे र परिचालित होने लगे। मंगत ऐतिहामि मिस्टोफे प्रति पन मटना. बाद मामला काजाम नपा दो कालिमा, जर .. ति गिएटी इममे. योग्य गामा मिस्टीने इमाम माग गगन किया !! नहीं। उन पर ऐतिहागिकोंने शो दोषारोपन fort. मनाय पर मंगोजमामोमियोंमें गिरोप उमा या विलकुन्द पनि परिमानि । में सामामियाने पुमार पर पार उम मम धागमपुर गाने माग मार्ग परन से अनुगार मा मिटाने पर गुण-गरिमा यगंग कर दियदेगिलोका.